• Home
  • |
  • Blog
  • |
  • Recommended Books for BA (Yoga), MA (Yoga) & UGC-NET (Yoga)

एम०ए० योग, बी०ए० योग, नेट योग व क्यू०सी०आई० ( योग प्रमाणिक मण्डल ) के सम्पूर्ण पाठ्यक्रम के लिए आवश्यक पुस्तकें ।

योग विषय की बढ़ती हुई लोकप्रियता के चलते आज अनेक विश्विद्यालयों व महाविद्यालयों ने योग को अपने यहाँ पर पाठ्यक्रम के रूप में शुरू कर दिया है । जिनमें मुख्य रूप से योग में सर्टिफिकेट कोर्स, डिप्लोमा कोर्स, योग में स्नातक कोर्स, योग में पीजी डिप्लोमा कोर्स, एम०ए० योग, एम०फिल० व पीएच०डी० कोर्स करवाये जाते हैं ।

इन पाठ्यक्रमों को पूरा करने के बाद विद्यार्थी को रोजगार के उद्देश्य से भारत सरकार द्वारा कुछ मानक तय किए गए हैं । जिसके लिए समय- समय पर अलग- अलग स्तर की परीक्षाएँ आयोजित की जाती हैं ।

इनमें किसी भी विश्विद्यालय में असिस्टेंट प्रोफेसर की पोस्ट पर लगने के लिए विद्यार्थी को योग में नेट की परीक्षा को पास करना अनिवार्य होता है । इसी के साथ आयुष मंत्रालय भारत सरकार द्वारा भी अभी मुख्य रूप से लेवल-1 योग इंस्ट्रक्टर व लेवल -2 योग टीचर के लिए लिखित व प्रयोगात्मक ( प्रैक्टिकल ) परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है । जिनमें पास होने के बाद विद्यार्थी को क्रमशः योग इंस्ट्रक्टर व योग टीचर के लिए पात्र ( योग्य ) माना जाता है ।

अब विषय आता है कि इन सभी पाठ्यक्रमों के साथ- साथ रोजगार प्रदान करवाने वाली इन प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए कौन- कौन सी पुस्तक पढ़ी जाएं साथ ही वह पुस्तकें किस लेखक की होनी चाहिए ? यह सब जानना बहुत जरूरी है । ताकि तैयारी करते हुए हमें आवश्यक दिशा निर्देश भी मिलते रहें और अनावश्यक सामग्री का बोझ भी विद्यार्थी के ऊपर न पड़े ।

आज योग विषय पढ़ने वाले छात्रों में से अधिकतर छात्र वे हैं जिन्होंने पहले कभी योग अथवा संस्कृत की पढ़ाई नहीं की है । चूँकि योग के सभी ग्रन्थ मूल रूप से संस्कृत भाषा में ही मिलते हैं । इसलिए इनको समझने के लिए संस्कृत भाषा का ज्ञान होना आवश्यक है ।

लेकिन जिन विद्यार्थियों ने संस्कृत भाषा को नहीं पढ़ा है । उनके लिए योग विषय को समझना थोड़ा मुश्किल हो जाता है । लेकिन इस बात से परेशान होने की आवश्यकता बिलकुल भी नहीं है । क्योंकि बहुत सारे लेखकों ने इन गूढ़ रहस्यों को बताने वाली योग विद्या का अत्यन्त सरल व सारगर्भित भाषा में अनुवाद किया है । जिसे किसी भी स्तर का विद्यार्थी आसानी से समझ सकता है ।

लगभग एक वर्ष से बहुत सारे विद्यार्थियों ने मुझसे यह प्रश्न पूछा है कि हम योग विषय की तैयारी कहाँ से करें ? हमारा यह सिलेबस किस पुस्तक में मिलेगा ? इस परीक्षा की तैयारी के लिए कौन से लेखक की पुस्तक खरीदें ? आदि- आदि । इन सभी प्रश्नों व विद्यार्थियों को आने वाली समस्या को देखते हुए मुझे लगा कि इस विषय पर एक लेख लिखा जाना चाहिए । जिसमें हम एक विश्लेषण के आधार पर विद्यार्थियों को यह बता सकें कि आपको योग की किसी भी प्रकार की परीक्षा की तैयारी के लिए किस- किस लेखक की कौन- कौन सी पुस्तक खरीदनी चाहिए ?

इस लेख के माध्यम से हम आपको यही सब बताने का प्रयास करेंगे कि आपको योग की किन- किन पुस्तकों को पढ़ना चाहिए ? साथ ही यह भी बताएंगे कि किस- किस लेखक की पुस्तकें आपको पढ़नी चाहिए ? जिससे आपको उस विषय को समझने के लिए किसी प्रकार की कठिनाई महसूस न हो । अब हम आपके सम्मुख योग की अति आवश्यक पुस्तकों का लेखकों के साथ विवरण प्रस्तुत कर रहे हैं ।

पुस्तक नाम   -    लेखक अथवा प्रकाशन

  1. योगदर्शन =   स्वामी सत्यपति परिव्राजक, डॉ० देवीसहाय पाण्डेय ( दीप ), स्वामी रामदेव, पण्डित आचार्य श्रीराम शर्मा, डॉ० सोमवीर आर्य ।
  2. श्रीमद्भागद्गीता=  स्वामी अड़गड़ानन्द, स्वामी रामदेव, बिहार योग मुंगेर
  3. वेद, उपनिषद व दर्शन = भारतीय दर्शन की रूपरेखा ( प्रो० हरेन्द्र प्रसाद सिन्हा ), एकोदश: उपनिषद ( गीता प्रैस गोरखपुर ), 108 उपनिषद ( पण्डित आचार्य श्रीराम शर्मा )
  4. हठप्रदीपिका = परमहंस स्वामी अनन्त भारती ( चौखम्बा प्रकाशन ), कैवल्यधाम लोनावला, डॉ० सोमवीर आर्य ।
  5. घेरण्ड संहिता = डॉ० राघवेंद्र राघव, आचार्य श्रीनिवास शर्मा, डॉ० सोमवीर आर्य ।
  6. शिव संहिता= कैवल्यधाम लोनावला, डॉ० राघवेन्द्र राघव ।
  7. सिद्ध सिद्धान्त पद्धति = स्वामी द्वारिकाधीश शास्त्री ।
  8. हठरत्नावली = कैवल्यधाम लोनावला ।
  9. सामान्य मनोविज्ञान = डॉ०अरुण कुमार सिंह ।
  10. रामायण = राजेन्द्र प्रताप सिंह ( प्रभात प्रकाशन )
  11. महाभारत = राजेन्द्र प्रताप सिंह ( प्रभात प्रकाशन )
  12. हिन्दू धर्म प्रश्नोत्तरी = पकंज दीक्षित ( प्रभात प्रकाशन )
  13. कुण्डलिनी योग = बिहार योग मुंगेर
  14. सूर्य नमस्कार = बिहार योग मुंगेर
  15. स्वर विज्ञान = बिहार योग मुंगेर, रणधीर प्रकाशन, हरिद्वार ।
  16. योगियों का जीवन परिचय = डॉ० सोमवीर आर्य व असिस्टेंट प्रोफेसर धर्मवीर ‘सलोनी’ ( प्रकाशनाधीन )
  17. योग में शिक्षण विधियाँ = कैवल्यधाम लोनावला ।
  18. आसन, प्राणायाम, मुद्रा व बन्ध = स्वामी शिवानंद ( बिहार योग मुंगेर ),  स्वामी कुँवल्यानन्द सरस्वती, कैवल्यधाम लोनावला ।
  19. मानव शरीर रचना विज्ञान = स्वास्थ्य प्रश्नोत्तरी ( अनिल अग्रवाल, प्रभात प्रकाशन ) डॉ० एम०एम० गोरे ( लोनावला )
  20. योग वसिष्ठ = गीता प्रैस गोरखपुर
  21. रोग और योग = बिहार योग मुंगेर ।
  22. स्वस्थवृत विज्ञान = प्रो० रामहर्ष सिंह
  23. प्रेक्षा ध्यान = जैन विश्वभारती विश्विद्यालय, लाडनू ।
  24. भावातीत ध्यान = महर्षि महेश योगी आलेख ।
  25. प्राकृतिक चिकित्सा = डॉ० राकेश जिन्दल, गोरखपुर ।

Related Posts

September 11, 2018

सत्त्वपुरुषयो: शुद्धिसाम्ये कैवल्यमिति ।। 55 ।।     शब्दार्थ :- सत्त्व ( बुद्धि ) ...

Read More

September 10, 2018

तारकं सर्वविषयं सर्वथाविषयमक्रमं चेति विवेकजं ज्ञानम् ।। 54 ।।   शब्दार्थ :- तारकं ( ...

Read More

September 9, 2018

जातिलक्षणदेशैरन्यताऽवच्छेदात्तुल्योस्तत: प्रतिपत्ति: ।। 53 ।।   शब्दार्थ :- जाति ( कोई विशेष समूह ) ...

Read More
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked

  1. ?प्रणाम आचार्य जी! विद्यार्थीयो के सभी समस्याओ को समझ कर उसके सही निराकरण को सभी विद्यार्थीयो तक सुलभ कराने के इस महान पहल के लिए हम सब विद्यार्थीयो की तरफ से आपका कोटि कोटि आभार गुरु देव जी ?ओम

  2. ॐ गुरुदेव*!
    आपने योग के विद्यार्थियों के लिए
    अत्यंत लाभदायक व उपयोगी
    जानकारी प्रस्तुत करने का सराहनीय कार्य
    किया है , आशा है कि इससे योग के समस्त विद्यार्थी
    अवश्य ही लाभान्वित होंगे।
    आपके अमूल्य मार्ग दर्शन हेतु समस्त योगार्थियों
    की ओर से आपको हार्दिक शुभकामनाएं प्रेषित
    करता हूं।

  3. प्रिय सोमवीर,
    योग शिक्षा के विषय में अच्छा ज्ञान प्रस्तुत किया है।
    ऐसे प्रयासों के लिये शुभकामनाएं। आपने QCI की पुस्तकों का वर्णन नहीं किया – Basic and Advanced Trg Course Guide/Hand Books.

    1. Qci की पुस्तकों को कैसे ओर कहा से खरीदना उचित रहेगा

  4. हठयोग के ग्रंथो के बारे अच्छी जानकारी प्रस्तुत की गई हैं।

{"email":"Email address invalid","url":"Website address invalid","required":"Required field missing"}