Yogiyo ka Jeewan Parichay

225

योग के अत्यन्त गूढ़ रहस्यों को हम सभी तक सरल रूप में प्रस्तुत करने वाले योगियों का जीवन कैसा था? किस प्रकार से उन्हें योग का ज्ञान प्राप्त हुआ? उनकी साधना कैसी थी? किस प्रकार की घटना से उनके जीवन में परिवर्तन आया? किस योगी को कितने वर्षों में सिद्धि प्राप्त हुई? समकालीन होते हुए भी उनकी साधना में किस प्रकार के भेद थे? किस योगी की साधना आधुनिक युग में सबसे ज्यादा प्रचलित है? आदि प्रश्नों के सही उत्तर बताने वाली यह पुस्तक, जिसका नाम “योगियों का जीवन परिचय” है, का लेखन आप सभी की जिज्ञासाओं को शान्त करने के लिए किया गया है

पाठकों की रुचि को ध्यान में रखते हुए, पुस्तक को रोचक तथ्यों के साथ प्रस्तुत किया गया है । योग के छात्रों को ध्यान में रखते हुए पुस्तक को परीक्षा हेतु भी उपयोगी बनाया गया है ।

इसके लिए प्रत्येक जीवन परिचय में परीक्षा से सम्बंधित सभी अहम बिन्दुओं को विशेष रूप से दर्शाया गया है । इसके अतिरिक्त पुस्तक के अन्त में लगभग 200 से अधिक परीक्षा उपयोगी प्रश्न व उनके उत्तरों का भी वर्णन किया गया है । पुस्तक में उन सभी योगियों को शामिल किया गया है, जिन्हें योग के किसी न किसी पाठ्यक्रम में किया गया है । साथ ही जिन योगियों से सम्बंधित प्रश्नों को योग की विभिन्न परीक्षाओं में पूछा जाता है ।

भारत के सभी योग विद्यालयों, महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों के साथ-साथ सभी परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए ही योगियों का चयन किया गया है ।

भारत के सभी योग विद्यालयों, महाविद्यालयों, विश्वविद्यालयों के साथ-साथ सभी परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए ही योगियों का चयन किया गया है ।

पुस्तक में निम्न 28 योगियों के जीवन परिचयों का वर्णन किया गया है :-

  • महर्षि पतंजलि,
  • गुरु गोरक्षनाथ,
  • याज्ञवल्क्य ऋषि,
  • महात्मा बुद्ध,
  • महावीर स्वामी,
  • आदि गुरु शंकराचार्य,
  • सन्त कबीरदास,
  • महाकवि सूरदास,
  • गोस्वामी तुलसीदास,
  • गुरु नानक देव,
  • स्वामी दयानन्द सरस्वती,
  • श्यामाचरण लाहिड़ी,
  • रामकृष्ण परमहंस,
  • स्वामी विवेकानंद,
  • श्री अरविन्द घोष,
  • रमन महर्षि,
  • स्वामी कुवल्यानंद,
  • स्वामी शिवानन्द सरस्वती,
  • तिरुमलाई कृष्णमाचार्य,
  • परमहंस योगानन्द,
  • पण्डित श्रीराम शर्मा आचार्य,
  • महर्षि महेश योगी,
  • बेल्लूर कृष्णमचारी सुंदरराज अयंगर,
  • स्वामी सत्यानन्द सरस्वती,
  • धीरेन्द्र ब्रह्मचारी,
  • स्वामी राम हिमालय,
  • योग गुरु स्वामी रामदेव
  • श्री श्री रविशंकर ।

प्रस्तुत पुस्तक को योग विद्यार्थियों के साथ- साथ आम जन- मानस के लिए भी उपयोगी बनाने का प्रयास किया गया है ।

हमारा यह प्रयास कितना सफल रहा ? इसका निर्धारण आपके अमूल्य सुझावों द्वारा ही किया जा सकता है ।

इसलिए आपके अमूल्य सुझावों की प्रतीक्षा करते हुए पुस्तक को प्रस्तुत कर रहे हैं ।

धन्यवाद सहित डॉ० सोमवीर आचार्य